MP सरकार का ‘पुरोहित’ विचार! पुरोहित की धोती `आम बाजार’ में!

मध्य प्रदेश में अब किसी भी जाती व धर्म वाला पुरोहित का कोर्स कर पूजा-पाठ करा सकेगा!

April 7, 2017
50 Views

मध्य प्रदेश सरकार एक साल जुलाई से पुरोहित के कोर्स की शुरुआत करने जा रही है। इस कोर्स में किसी जाति या धर्म की बाध्यता नहीं होगी। कोर्स का संचालन स्कूल शिक्षा विभाग के महर्षि पतंजलि संस्कृत संस्थान के जरिए किया जाएगा। इस संस्थान के संचालक प्रभात आर तिवारी ने बताया, इसका पाठ्यक्रम तैयार हो चुका है। इसी साल से इसे चालू कर दिया जाएगा. हमारा जोर बच्चों को प्रायोगिक शिक्षा देने पर ज्यादा होगा।

पिछले साल मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान ने अनुसूचित जाति विभाग को एक योजना पर काम करने को कहा था, जिसके जरिए दलित समुदाय के युवाओं को पंडिताई और पुरोहित बनने का प्रशिक्षण दिया जाना था।

सरकार की मंशा दलित समुदाय के युवाओं से ब्राहमणों की तरह पूजा, पाठ, यज्ञ हवन और अन्य मांगलिक कार्य करवाने की थी। सरकार की इस योजना के खिलाफ प्रदेश ब्राहमण लामबंद हो गए थे और पूरे प्रदेश में प्रदर्शन हुए थे। इसके बाद सरकार को अपने कदम पीछे खींचने पड़े थे।

ब्राह्मणों का विरोध

बुंदेलखंड युवा सर्व ब्राह्मण समाज के अध्यक्ष भारत तिवारी कहते है, हम इसका विरोध करेंगे। हम समाज को बताएंगे कि किस तरह से सरकार समाज के खिलाफ षड्यंत्र कर रही है। यह ब्राहमण समाज को कमजोर करने की कोशिश है।

स्वामी स्वरूपानंद ने भी सरकार की इस योजना को पूरी तरह से गलत बताया था। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा था कि सरकार सनातन धर्म की परंपराओं को किसी भी तरह से तोड़ने की कोशिश न करे।

महर्षि पतांजलि संस्कृत संस्थान के संचालक कहते है, इसके विरोध का सवाल ही नहीं उठता। इस तरह के कोर्स का संबंध विशेष तौर पर धर्मों से नहीं है। यह सब तर्क पर आधारित है। वो कहते हैं कि पुरोहित के तौर पर जब आप कोई काम करवाते हैं तो आपके पास पर्याप्त ज्ञान होना चाहिए यही महत्वपूर्ण है।

लेकिन अब नए सिरे से इस कोर्स पर विवाद बढ़ने की उम्मीद है। ब्राहमण समाज के युवा सरकार की इस कोशिश से खासे नाराज हैं।

अमिताभ पाण्डेय कहते हैं, पुरोहिताई ऐसा काम नहीं है कि कोई भी कर ले। प्राचीन काल से हिंदू धर्म में ब्राह्मण इसे करते चले आ रहे हैं। अब जहां तक सवाल है किसी भी धर्म के लोगों को इसमें प्रवेश देने का तो उसे किसी भी तरह से उचित नहीं कहा जा सकता। इस कोर्स में दाखिले के लिए जरूरी योग्यता कम से कम 10वीं पास होना है। इसकी फीस 25 हजार रुपए सालाना है।

Get the best viral stories straight into your inbox!

Don't worry, we don't spam

Leave a Comment

Your email address will not be published.